न्यूज़ Deep  

हाथरस मामला: राहुल-प्रियंका गांधी पर भड़के नकवी, बोले- फोटो खिंचवाने जाना चाहते हैं

8 / 100

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने गुरुवार को सामूहिक बलात्कार की पीड़िता के परिवार से मुलाकात के लिए हाथरस (Hatras) जाने की कोशिश की. उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. इस बीच केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी का बयान आया है. उन्होंने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा पर जमकर निशाना साधा है.

नकवी ने कहा, ‘यह पॉलिटिकल पर्यटन के पराक्रमी लोग हैं, यहां पीड़ित के आंसू पोछने नहीं बल्कि फोटो खिंचवाने जाना चाहते हैं.’

उन्होंने कहा कि इनको यह बात समझ नहीं आती कि जो ऐसी दर्दनाक घटनाएं होती हैं उनपर सियासत नहीं की जाती. योगी की सरकार कड़े से कड़े कानूनी प्रावधानों के तहत कार्रवाई कर रही है और जल्द से जल्द उसका रिजल्ट सामने आएगा. जिन्होंने भी यह किया है वह बचेंगे नहीं.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इनको तो कोई भी मौका चाहिए हर मौके पर ये पॉलिटिकल पर्यटन करते हैं. उन्होंने कहा कि ये लोग पीड़ित परिवार के जख्मों पर मरहम लगाने नहीं बल्कि नमक छिड़कने जा रहे थे. यह अपनी राजनीतिक जमीन खोजने की कोशिश कर रहे हैं. आप भूल गए भट्टा पारसौल किस तरह से इन्होंने खटिया पर बैठकर फोटो खिंचवाई थी.

उन्होंने कहा कि खेत में गिर कर फोटो खिंच जाएगी. आपको समझना चाहिए कि काठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती. आपको बता दें कि गुरुवार को हाथरस के लिए निकले राहुल गांधी धक्कामुक्की में खेत में गिर गए थे. इस घटना की फोटोज सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं.

नकवी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि यह सरकार का अहंकार नहीं कांग्रेस आपकी बेवकूफी है. सरकार क्या कार्रवाई नहीं कर रही है? गुनहगारों तक कानून का फंदा पहुंच चुका है. आप उसमें और हाहाकार मचाकर सियासी रोटियां सेक रहे हैं.

मंत्री ने कहा कि राजस्थान में भी इस तरह की घटनाएं हुई हैं और भी कई राज्य हैं जहां ऐसी घटनाएं हुई हैं. उन्होंने आगे कहा कि किसी भी राज्य में ऐसी घटनाओं को सही नहीं ठहराया जा सकता. इस पूरी घटना में जो भी शामिल हैं उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. हमने तो राजस्थान में पॉलिटिकल पर्यटन नहीं किया, हमने राजनीतिक रोटियां सेकने की कोशिश नहीं की.

Leave A Comment